रविवार, 24 जुलाई 2022

मेरी फोटोग्राफी---नज़र का कमाल है

 ये नज़र का कमाल है... अक्सर छत की मुंडेर या दीवार पर खुरचना या कुरेदना मानव प्रकृति है... कुरेदते वक्त हम अनायास ही सृजित कर रहे होते हैं, मैंने यही कुछ आज खोजा... जब में इन खुरचनों को देख रहा था उसी समय मुझे इनमें जीवन और कुछ बोलते चित्र नज़र आए...। आप भी देखिए और महसूस कीजिए...। हमारे आसपास बहुत है खुश रहने को...बस हम अपनी नज़र और नजरिया बदल लें...।

हरेक चित्र देखिएगा... कुछ हटकर नज़र आएगा।








8 टिप्‍पणियां:

  1. ये दरारे बहुत कुछ कहती हैं
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  2. इनमें जीवन भी है और गहरी कसक भी...। आभार आपका अपर्णा जी...।

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत सुंदर दृष्टि कोण है अपना अपना।
    सादर

    जवाब देंहटाएं

प्रेम प्रतिबिंब होता है

  यकीन कीजिए प्रेम प्रतिबिंब होता है और मैं ऐसा क्यों कह रहा हूँ क्योंकि आप देखिएगा किसी सुर्ख गुलाब को देखने पर ही हमारे अंदर भाव अनुभूति ब...